picture picture
February 5, 2012 Kavita / Poems, Shayari 0 Comments

दिलों में तुम अपनी…

दिलों में तुम अपनी  बेताबियाँ लेके चल रहे हो
तो ज़िंदा हो तुमLife - Zindagi

नज़र में ख्वाबों की
बिजलियाँ लेके चल रहे हो
तो ज़िंदा हो तुम

हवा के झोकोन के जैसे
आज़ाद रहनो सीखो
तुम एक दरिया के जैसे
लहरों में बहना सीखो
हर एक लम्हे से तुम मिलो
खोले अपनी बाहें
हर एक पल एक नया समा
देखें यह निगहाएँ

जो अपनी आँखों में
हैरानीयाँ लेके चल रहे हो
तो ज़िंदा हो तुम

दिलों में तुम अपनी
बेताबियाँ लेके चल रहे हो
तो ज़िंदा हो तुम…

English version :-

Dilon mein tum apni betaabiyan leke chal rahe ho
Toh zinda ho tum
Nazar mein khwabon ki bijliyan leke chal rahe ho
Toh zinda ho tum
Hawa ke jhokon ke jaise aazad rehno sikho
Tum ek dariya ke jaise lehron mein behna sikho
Har ek lamhe se tum milo khole apni bhaayein
Har ek pal ek naya sama dekhen yeh nigahaein
Jo apni aankhon mein hairaniyan leke chal rahe ho
Toh zinda ho tum
Dilon mein tum apni betaabiyan leke chal rahe ho
Toh zinda ho tum…

Be Sociable, Share!
Tags: , , ,

No Responses to “दिलों में तुम अपनी…”

Leave a Reply

Name

Mail (will not be published)

Website